Archives by date

You are browsing the site archives by date.

यूपीएससी तैयारी के पुराने चावल सह लेखक बंधु को खत,

यूपीएससी तैयारी के पुराने चावल सह लेखक बंधु, आपको ‘अटेम्प्ट भरा’ नमस्कार। अटेम्प्ट समाप्त होते ही आप क्रांति-क्रांति खेलने लगे है। चहुँओर आपको अँधियारा-अँधियारा ही दिख रहा है। सभी के सभी राजा मने सरकारें आपको चौपट लग रही है और देश आपको बिल्कुल अंधेर नगरी जैसा लगने लगा है। महाभोज उपन्यास के सक्सेना साहब जितनी तेजी से आपका व्यक्तित्वांतरण हुआ… Read more →

बॉडीलाइन: बॉल जिसने मैदान पे खिलाड़ियों को घायल किया तो मैदान के बाहर दो देशों के कूटनीतिक संबंधों की लंका लगा दी

बॉडीलाइन: बॉल जिसने मैदान पे खिलाड़ियों को घायल किया तो मैदान के बाहर दो देशों के कूटनीतिक संबंधों की लंका लगा दी वर्ष 1930 के इंग्लैंड दौरे पर गयी ऑस्ट्रेलियाई टीम के धाकड़ बल्लेबाज सर डोनाल्ड ब्रैडमैन ने अपनी धारदार बल्लेबाजी से इंग्लिश गेंदबाजों की हालत खस्ता कर दी थी। सर जी ने 5 टेस्ट मैचों में 139.14 की औसत… Read more →

दास्ताँ-ए-इंग्लिश-लैट्रिन

दास्ताँ-ए-इंग्लिश-लैट्रिन खुटुल्ले बाऊ परदेश जा रहे थे कमाने के वास्ते। सूरत जाना था उनको सो साबरमती एक्सप्रेस में टिकट करा लिए थे , भीड़-भड़क्का से बचने के लिए स्लीपर का टिकट करवाए थे। घर से एकदम नट्टी तक हुर के खाना चले थे ताकि सूरत से पहले खाने की सूरत न देखनी पड़े मगर बेतरतीब हुराई ने उनका कोठा गड़बड़वा… Read more →

प्यारी रिम्मी

प्यारी रिम्मी तुम्हारे गम में आज रम पी रहे है और तब तक पिएंगे जब तक अस्पताल न पहुँच जाये।काहे कि तभी तुम हमको भाव दोगी।आशिकी 2 देखकर तुम जैसी लौंडियों के खूब भाव बढ़ गए है।साला जब तक हम जैसा लौंडा दारू पीकर अस्पताल न पहुँच जाये या सड़क पर लोटने न लगे।तुम लोग की नजरों में वो आशिकी… Read more →

(Untitled)

मेरी प्यारी रिम्मी, एतने जतन से तुमको 7-8 साल पियार का ककहरा सिखाये और पाठ पढ़ना सीखते ही तुम केहू और के लव के स्कूल केर माहटाराइन बन गईलू। बतिया अगर एतनी भी होती तो हम बर्दाश्त क़ै लेते। लेकिन बीटेक्स वाले ने तुमको फांसा है, ई आपन इज्जत पे दाग है। आज फिर साबित हो गया है कि प्रीत… Read more →

सफर-ए-खंचड़िया

  ट्रेनों के रद्द होने और बची ट्रेन की तत्काल कन्फर्म न होने के बाद आशा की एकमात्र किरण उत्तर प्रदेश परिवहन की सरकारी बसें थी। बस कैसी भी हो अगर उस पर यूपीएसआरटीसी लिखा है तो उनकी कार्यप्रणाली में बालू के कण जितनी भी असमानता नहीं होगी। सो हमारी बस ने भी अपनी व्यवस्था की वर्षो पुरानी परम्परा को… Read more →

पैर छूने की होड़ में नेताजी!

पैर छूने की होड़ में नेताजी! परचा दाख़िल कर आये है चुन्नू नेताजी। उनके नामांकन में जबरदस्त भीड़ भी उमड़ी थी, हालांकि यही चेहरे अगले दिन रामसुलभ नेता जी के नामांकन में भी थे। अब बीस-तीस दिन बचे है वोट गिरने के। सो सभी प्रत्याशियों ने अपने-अपने चुनावी रणनीति के अस्तबल के घोड़े छुट्टा छोड़ दिये है। एक महाशय तो… Read more →

ख़ुला घूंघट, निकली प्रत्याशी!

ख़ुला घूंघट, निकली प्रत्याशी! महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए नगर निकाय के कुछ वार्डों की सीटें महिलाओं के लिये आरक्षित कर दी जाती है। बँगले की चहारदिवारी में सोलहों सिंगार करके केवल किटी पार्टी में जाने वाली बड़े घर की महिलाएं अचानक से बड़े-बड़े होर्डिंग पे अवतरित हो गयी हैं। झुंड में अपनी किटी सहेलियों संग मेहंदी-महावर और माथे… Read more →

बियाह बनाम फोटो खिचुआ संस्कार!

बियाह बनाम फोटो खिचुआ संस्कार! बारात की अगवानी की तैयारी चल रही है। दुल्हन जी अपनी भाभी के बैडरूम में उनके दहेज़ में मिले बड़के शीशा के सामने सोलहो सिंगार के बाद अपने को निहारे जा रही है। सत्तर कोने का मुंह बना के सेल्फ़ी लेती है और फ़िर दूल्हे राजा को भेज देती है। ई देख के एसी कार… Read more →

मानुषी छिल्लर के लिए अपार स्नेह और सम्मान का न्यौछावर कर रहे फेसबुकिया नौजवानो/नवयुवतियो,

मानुषी छिल्लर के लिए अपार स्नेह और सम्मान का न्यौछावर कर रहे फेसबुकिया नौजवानो/नवयुवतियो, आपके इस आभासी स्त्री प्रेम और सम्मान के लिए हृदय से शुक्रिया। परसों रात से म्हारी छोरियाँ छोरों से कम थोरे है जैसे स्लोगन लिख-लिख के चरस बो दिए है। पहली बात तो ई है कि ये केवल छोरियों की ही प्रतियोगिता थी, इसमें छोरे प्रतिभाग… Read more →

shopify site analytics