sankarshanshukla

मैं जीवन॥ को अभी समझ ही रहा हूँ..........

बीसीसीआई के वनवास से बिहार क्रिकेट को बचाने वाले राम: आदित्य वर्मा

बीसीसीआई के वनवास से बिहार क्रिकेट को बचाने वाले राम: आदित्य वर्मा आज से सत्रह बरस पहले भारत के सर्वाधिक प्राचीन वैभवशाली साम्राज्य मगध के एक हिस्से और आधुनिक बिहार का विभाजन किया गया था और एक नया राज्य झारखंड अस्तित्व में आया था। इन दोनों राज्यों के बीच लगे ‘सीमा समाप्ति’ के बोर्ड ने बिहार के घरेलू क्रिकेटरों की… Read more →

यूपीएससी तैयारी के पुराने चावल सह लेखक बंधु,

यूपीएससी तैयारी के पुराने चावल सह लेखक बंधु, आपको ‘अटेम्प्ट भरा’ नमस्कार। अटेम्प्ट समाप्त होते ही आप क्रांति-क्रांति खेलने लगे है। चहुँओर आपको अँधियारा-अँधियारा ही दिख रहा है। सभी के सभी राजा मने सरकारें आपको चौपट लग रही है और देश आपको बिल्कुल अंधेर नगरी जैसा लगने लगा है। महाभोज उपन्यास के सक्सेना साहब जितनी तेजी से आपका व्यक्तित्वांतरण हुआ… Read more →

अनुष्का-विराट को बधाइयों की खुली सेल!

अनुष्का-विराट को बधाइयों की खुली सेल! इक्कीसवीं सदी का भारतीय क्रिकेट को तोहफ़ा विराट कोहली कल अनुष्का भौजाई का हो गया मने दोनों जन परिणय सूत्र में बंध गए। भौजाई भी बॉलीवुड की नामचीन अदाकारा है, उनका ख़ुद का प्रोडक्शन हाउस भी है। शाम में दु गो फ़ोटो आयी और बधाइयों का तांता सा लग गया। कमाल तो तब हो… Read more →

अप्रिय मोना,

अप्रिय मोना, नफ़रत से भी गिरी नफ़रत आपको। केतने जतन से आपको फ़सायें थे। पटना से दानापुर अपडाउन मारते-मारते टिटिहरी हो गए थे हम। तब जाके कही आपने हाँ बोला था। आपके हाँ सुनते ही राजेन्द्र नगर की लाल टंकी वाली गली को रम से गमगमा दिए थे हम। लौंडे लोग कमरों से अपने हित्ती-व्यवहारियों को निकाल-निकाल के सुरकवा रहे… Read more →

ऐतिहासिक किले में प्रेम को मज़हब पे तौलते मज़हबी ताबेदार

ऐतिहासिक किले में प्रेम को मज़हब पे तौलते मज़हबी ताबेदार रामपुर के नवाब का किला ऐतिहासिक इमारत है। लोगबाग फुर्सत के पलों में अपने अतीत से मिलने की महत्वाकांक्षा लेके वहां जाते है। पूरा किला भारत सरकार ने अपने अधीन ले रखा है। बिल्कुल पर्यटन स्थल के मानिंद वहां भी बाकायदा प्रवेश सूची में नाम दर्ज कर किले के भीतर… Read more →

अरुणाचलम मुरुगंथम: मर्द जिसने औरत को अपने औरतपने की गरिमा के साथ जीना सिखाया

अरुणाचलम मुरुगंथम: मर्द जिसने औरत को अपने औरतपने की गरिमा के साथ जीना सिखाया कोयम्बटूर, तमिलनाडु के एक स्कूल ड्रॉपआउट अरुणाचलम मुरुगंथम का विवाह हो गया था। नाम था उसकी बीवी का शांति। अरुणाचलम मुरुगंथम की जिंदगी एक आम दंपति की तरह आगे बढ़ रही थी। इसी बीच एक दिन उन्होंने अपनी बीवी शांति को माहवारी के दौरान अनहैजेनिक तरीके… Read more →

नई वाली हिंदी के लेखक,

नई वाली हिंदी के लेखक, आप सब को रिव्यु-रिव्यु नमस्कार। हाँ भाई! करना पड़ता है। कुछ दिन में नमस्कार की जगह आप लोग रिव्यु तो प्रणाम की जगह मेरे हाथों में फलाना- ढेमका किताब को अभिवादन के रिवाज़ के तौर पे शामिल करवा देंगे। प्रेमचंद वहां स्वर्ग से ढेर गुस्सा है, कह रहे है कि हमें भी प्रशंसक को पकड़कर… Read more →

सिजदानसीं से बागी होने तक का स्त्री गान

सिजदानसीं से बागी होने तक का स्त्री गान भरा दरबार और मसनद पर बादशाह अकबर सवार ; इतने में पर्दा खुलता है | दोनों करों को उर से चिपकाये नायिका बाहर आती है |बादशाह अकबर को सिजदा करती है | बादशाह का अहंकार चरम पर है | महारानी भी पति छांव में अहंकार का लबादा ओढ़े अभिजात्य हंसी हंस रही… Read more →

प्रेम का बाजारीकरण

प्रेम का बाजारीकरण आज एक तीस साल के अधेड़ के साथ साढ़े पंद्रह बरस की नवयौवना को देखा;मैं एकबारगी सुन्न सा हो गया। बमुश्किल अभी इंटरमीडिएट की परीक्षा ही उत्तीर्ण की होगी उस लड़की ने और शोहदों के दल के एक सदस्य ने उसे अपने प्रेमजाल में फंसा लिया। अब रात-दिन का फोन से चिपकना , फेसबुक-व्हाट्सप्प पर दिन भर… Read more →

मुग़ल मरीचिका

मुग़ल मरीचिका मुगलों के समृद्ध स्थापत्य कला , खानपान , भाषाई तहजीबियत , युद्ध कौशल के खूब कसीदे कढ़े जाते है। परन्तु उनके हिस्से दर्ज कई उपलब्धियां उनकी अपनी है ही नहीं। हालाँकि अंग्रेज और वामपंथी इतिहासकारों की छिछली व्याख्या ने मुगलों को इनका बौद्धिक सर्जक बना दिया। मसलन कई लोग इस बात का बड़ा भौकाल भरते है कि अगर… Read more →

shopify site analytics